Tips to Maintain Cibil Score 2023 : सिबिल स्कोर अच्छा होने पर ही मिलेगा Bank se Loan, जानें टिप्स

आज के डिजिटल युग में लोन लेना बेहद आसान हो गया है। अब लोन लेने के लिए आवेदकों को बैंक के चक्कर काटने की जरूरत नहीं पड़ेगी। अब घर बैठे लोन (Loan) लेना मिनटों का काम हो गया है। इसके लिए आवेदकों का सिबिल स्कोर (Tips to Maintain Cibil Score ) अच्छा होना चाहिए।

अगर सिबिल स्कोर (Cibil Score) अच्छा नहीं है तो लोन लेने में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। आज इस लेख में जानते हैं कि Cibil Score की रेटिंग कैसे बढ़ाएं?, सिबिल स्कोर के फायदे (Cibil Score benefit) आदि जानकारी को विस्तार से जाने।

Tips to Maintain Cibil Score

Cibil Score क्या होता है ?

आपको बता दें कि सिबिल स्कोर (Cibil Score) वो होता है जिसके जरिए लोगों को बैंक द्वारा लोन आसानी से मिलता है। इसी सिबिल स्कोर को देखकर बैंक आपको लोन (Bank se Loan) प्रदान करती है। दरअसल इस क्रेडिट स्कोर की सिविल रेटिंग (Civil Rating) 13 अंकों की होती है जो ग्राहकों को बैंक के माध्यम से दी जाती है।

यह 300 से 900 के बीच होता है यह जितना अधिक होगा वह उतना ही अधिक ग्राहकों पर भरोसा करती है। अगर सिबिल स्कोर अच्छा है तो बैंक आपको तुरंत लोन दे देगी अगर सिविल खराब है तो बैंक आप को अधिक ब्याज के साथ लोन प्रदान करेगी।

Aadhar Se Loan: 5 मिनट में लोन पास – झट आवेदन – फट लाभ

सैलरी और पेंशन बढ़ेगी दोनों! केंद्रीय कर्मचारियों को मिलने जा रही है खुशखबरी, जानें कितना बढ़ेगा DA और DR

Tips to Maintain Cibil Score: सिबिल स्कोर मेंटेन करने की टिप्स

लोन लेते समय कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए। समय से पहले लोन का भुगतान करने से सिबिल स्कोर अच्छा रहता है। जानते हैं कि सिबिल स्कोर मेंटेन (Tips to Maintain Cibil Score) करने के लिए यह टिप्स।

जरूरत पड़ने पर ही Loan लें

आज की इस बढ़ती महंगाई को देखते हुए जहां खर्चे ज्यादा है और आमदनी कम है ऐसी स्थिति में कई कामों में लोन लेने की जरूरत पड़ जाती है। कोशिश करें कि बहुत जरूरत पड़ने पर ही लोन लें। लोन लेना तो आसान है लेकिन इस लोन को चुकाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अगर आपका सिबिल स्कोर अच्छा नहीं है तो नेगेटिव असर भी पड़ता है।

ग्राहक का क्रेडिट बैलेंस

आज के समय में क्रेडिट कार्ड के माध्यम से कई तरह की शॉपिंग आसानी से हो जाती है। अगर इस क्रेडिट कार्ड का पैसा समय पर ना भरा जाए तो आपके सिविल स्कोर पर इसका असर पड़ता है। इसलिए क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल से दूर रहें।

7th Pay Commission: चमक उठी किस्मत! महंगाई भत्ते पर आया नया अपडेट, खाते में आएंगे इतने रुपए

BOB E Mudra Loan Online Apply: बैंक ऑफ बड़ौदा दे रहा 5 मिनट में 50,000 रुपए, ऐसे करें अप्लाई

CIBIL Score क्या होना चाहिए?

CIBIL score range: सिबिल स्कोर 300 से 900 के बीच होता है, जिसमें 300 सबसे कम और 900 सबसे ज्यादा होता है। कुछ लोगों का Cibil Score 300 से नीचे और कुछ का 900 तक हो सकता है, लेकिन यह कौन सी सीमा है जो Loan लेने की योग्यता तय करती है, आइए जानते हैं –

Cibil Score 300 से नीचे: अगर सिबिल स्कोर 300 से कम है तो कोई भी बैंक आपको कर्ज नहीं देना चाहेगा। ऐसे CIBIL Score वाले व्यक्ति को बैंक किसी भी तरह का लोन देने से बचेंगे.
300 से 450 के बीच: यह Score भी बहुत सही नहीं माना जाता। यदि आप इस सिबिल स्कोर वाले व्यक्ति हैं, तो इसे समय पर अपनी EMI का भुगतान शुरू करने के लिए एक रिमाइंडर के रूप में लें। ताकि आपका Credit Score सुधारा जा सके।
450 से 600 के बीच का Cibil Score: यह भी ठीक है। इसे बहुत अच्छा स्कोर या बहुत बुरा स्कोर नहीं माना जा सकता। ऐसे सिबिल स्कोर धारकों को कुछ बैंक लोन दे सकते हैं।
Cibil Score 600 से 750 के बीच: यह एक बहुत अच्छा स्कोर है, जिन व्यक्तियों का Credit Score 600 से 750 के बीच होता है, उन्हें आसानी से Bank Loan दिया जाता है।
CIBIL स्कोर 750 से 900 के बीच: जिन व्यक्तियों ने एक सही वित्तीय ट्रैक रिकॉर्ड (perfect financial track) बनाए रखा है, उनका Credit Score इस सीमा में है। ऐसे में बैंक आपको बड़ी रकम का loan / amount देने को तैयार है।

10 तरीकों से अपना Cibil Score 900 तक बनाएं

अगर आप अच्छा Cibil Score रखना चाहते हैं तो आपको अपने लोन की किश्त (Loan ki kist) समय पर जमा करनी होगी। ऐसा न करने पर सिबिल स्कोर पर बुरा असर पड़ता है।
आपको अपना payment reminder सेट करना चाहिए और लिमिट के अंदर ही खर्च करना चाहिए।
लंबी अवधि के कर्ज लेने में सावधानी बरतें।
जरूरत के हिसाब से क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करना अनावश्यक नहीं है।
जब आपको कर्ज लेने की ज्यादा जरूरत न हो तो इससे परहेज करें।
समय पर अपनी EMI का भुगतान करें और समय पर अपनी क्रेडिट कार्ड भुगतान की किस्तें चुकाएं।
एक बार में एक से अधिक कर्ज लेने से बचें।
अगर आपके क्रेडिट स्कोर में कोई गलती है तो उसे ठीक करा लें।
कम समय में बार-बार अपना Credit Score Check करना भी आपके क्रेडिट स्कोर को कम करता है।
अपनी क्रेडिट लिमिट का एक लिमिट के अंदर ही इस्तेमाल करें। आपको अपनी कुल क्रेडिट लिमिट (total credit limit) के 30% से ज्यादा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

CIBIL Score kaise Badhaye (सिबिल स्कोर बढ़ाने के उपाय)

अपने ऋण/ऋण या क्रेडिट कार्ड की राशि का समय पर भुगतान करें।
असुरक्षित ऋण जैसे व्यक्तिगत ऋण, क्रेडिट कार्ड आदि से बचें।
बकाया कर्ज समय पर चुकाएं।
credit limit या loan limit का इस्तेमाल विवेकपूर्ण तरीके से करें।
अपने credit score में किसी भी तरह की त्रुटि को ठीक करें
क्रेडिट कार्ड की बकाया राशि का भुगतान समय पर करें
क्रेडिट कार्ड का सिबिल किसी भी तरह से बिगड़ने न दें.
हर साल अपना क्रेडिट कार्ड स्कोर देखें।
लंबी अवधि के लोन के लिए जाएं ताकि आप आसानी से कम ईएमआई का भुगतान कर सकें जिससे EMI default की संभावना कम हो जाए।
सिबिल स्कोर त्रुटि की जांच करें क्योंकि कभी-कभी सिबिल रिपोर्ट में त्रुटि होती है जो आपके सिबिल स्कोर को कम करती है।
एक साल में अपनी CIBIL Report जरूर देखें।

कैसे चेक करें अपना सिबिल स्कोर ( check your cibil score)

हर व्यक्ति जो Loan लेना चाहता है उसे अपना सिबिल स्कोर पता होना चाहिए। सिबिल स्कोर 750 से अधिक होने पर लोन स्वीकृत किया जाता है। CIBIL score पता करने के लिए आपको नीचे दिए गए स्टेप्स को जानना चाहिए –

आप अपना सिबिल स्कोर myscore.cibil.com पर जाकर ऑनलाइन चेक कर सकते हैं।

  • आप वेबसाइट के दिए गए लिंक myscore.cibil.com पर क्लिक करके वेबसाइट पर जा सकते हैं।
  • जैसे ही आप वेबसाइट पर जाते हैं, आप अपनी स्क्रीन पर एक फॉर्म देखेंगे, यहां अपना नाम, पता, संपर्क नंबर और पैन विवरण जैसी बुनियादी जानकारी भरें।
  • अब इन जानकारियों को भरने के बाद आपको कुछ सवालों के जवाब देने होंगे जो आपसे आपके लोन और क्रेडिट कार्ड के संबंध में पूछे जाएंगे।
  • अब इन्हीं जानकारियों के आधार पर आपके सिबिल की गणना की जाएगी और आपकी क्रेडिट रिपोर्ट तैयार की जाएगी।
  • सारी जानकारी भरने के बाद अब आपके सिबिल स्कोर की जानकारी वेबसाइट के माध्यम से उपलब्ध होगी।
NIT Meghalaya

Leave a comment