New Pension Rules : पेंशन को लेकर हुए बड़े बदलाव, मिलेगा 9000 का लाभ, जानें कैसे

New Pension Rules : सरकार ने पेंशन के नियमों को लेकर बड़ा बदलाव किया है। अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana) में नया बदलाव किया गया है। जिसमें पेंशनर्स अब सब्सक्राइबर यूपीआई से भी अंशदान का भुगतान कर सकेंगे। पेंशन फंड नियामक (PFRDA) की तरफ से दी गई जानकारी बताया गया है कि सब्सक्राइबर सुबह 9:30 से अंशदान का भुगतान करता है और उसे उसी दिन का निवेश माना जाएगा।

Pension Rules: सब्सक्राइबर करेंगे UPI का इस्तेमाल

आपको बता दें कि अटल पेंशन योजना (APY) और पेंशन फंड नियामक (PFRDA) की तरफ से एनपीएस और अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana) दोनों में बड़े बदलाव किए गए हैं। नया बदलाव होने के बाद अभी योजना से जुड़े सब्सक्राइबर यूपीआई को इसका भुगतान करना होगा। अभी तक सब्सक्राइबर IMPS, NEFT, RTGS के जरिए अंशदान की राशि भेज सकते थे लेकिन इसका दायरा बढ़ने के बाद अब यूपीआई भी कर सकते हैं।

New Pension Rules : पेंशन को लेकर हुए बड़े बदलाव, मिलेगा 9000 का लाभ, जानें कैसे

Atal Pension Yojana में हुआ बड़ा बदलाव

अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana) असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों के लिए है। इस योजना का लाभ अंश धारकों को उनके योगदान के आधार पर दिया जाता है। इस योजना में 60 साल होने के बाद गारंटी के साथ 1000 रुपए से 5000 रुपए महीने की न्यूनतम पेंशन मिलती है इस नए नियम के अनुसार आयकर दाता अटल पेंशन योजना के लिए आवेदन नहीं कर सकेंगे।

Atal Pension Scheme: शादीशुदा लोगों को मिलेगी 10000 रुपए की पेंशन, जानें कौन कर सकता है आवेदन

बता दें कि पिछली 1 अक्टूबर से अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana) में बड़ा बदलाव किया गया है। इस नियम के अनुसार अब टैक्स पेयर अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana) का लाभ नहीं ले सकेंगे।

क्या है NPS योजना?

एनपीएस योजना (NPS Yojana) एक ऐसी योजना है जो संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए संचालित की जाती है इस योजना की शुरुआत 2004 से हुई। NPS पेंशन योजना (NPS Pension Scheme) उन्हीं कर्मचारियों पर लागू है जो 1 जनवरी 2004 या इसके बाद सेवा में शामिल हुए हैं। मई 2009 में स्वैच्छिक आधार पर प्राइवेट और असंगठित क्षेत्र में वितरित किया गया था।

EPS Pension New Update : दोगुनी होगी पेंशन, हटने जा रही है 15000 की सीमा,जानें नया अपडेट

कर्मचारियों को होगा 9000 रुपये का लाभ

सरकार द्वारा पेंशन या ग्रेच्युटी को अनिश्चित काल के लिए रोका जा सकता है। इसके अतिरिक्त उनके पास पेंशन या ग्रेच्युटी से सरकार द्वारा किए गए किसी भी वित्तीय नुकसान की पूर्ण या आंशिक वसूली का आदेश देने का अधिकार है। राष्ट्रपति द्वारा कोई अंतिम निर्देश जारी करने से पहले इस उप-नियम के अनुसार संघ लोक सेवा आयोग से परामर्श किया जाएगा। इसके अतिरिक्त पेंशन की राशि को नियम 44 के तहत न्यूनतम पेंशन से कम नहीं किया जा सकता है जो कि 9000 रुपये प्रति माह है।

Pension Rules ऐसे मिलेगा पेंशन का लाभ

डेट-इक्विटी एक्सपोजर में लंबी अवधि में एनपीएस की ब्याज दर करीब 10 फीसदी सालाना होने की उम्मीद की जा सकती है। उन्होंने कहा कि अगर कोई व्यक्ति एनपीएस योजना (NPS Yojana) में निवेश करता है तो उसे आयकर लाभ भी मिलेगा। अगर कोई निवेशक 30 साल की उम्र के बाद एनपीएस खाते में प्रति माह 15,000 रुपए का निवेश करता है तो 60 साल की उम्र के बाद 2.23 लाख रुपए मासिक पेंशन मिलने की उम्मीद की जा सकती है।

NIT Meghalaya HomepageClick Here

Leave a comment