Online Trading क्या है , Trading से पैसे कैसे कमाएं – पूरी जानकारी हिंदी में।

क्या आप भी Trading करते हैं? आजकल हम न्यूज़ और बाजार में Online Trading के बारे में सुनते रहते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि Trading क्या है? ट्रेडिंग कैसे करते हैं? ट्रेडिंग से लाभ कैसे कमाते हैं? Trading से पैसे कैसे कमाए? आज हम आपको ट्रेडिंग से संबंधित जानकारी trading meaning in hindi प्रदान करेंगे और आपको बताएंगे कि किस प्रकार आप भी Online Trading करके लाखों रुपए घर बैठे कमा सकते हैं। ऐसे सभी लोग जो किसी ने किसी व्यापारिक क्रियाकलाप में लगे होते हैं उन्हें Trading के बारे में जानकारी अवश्य होती है. लेकिन जिस ट्रेडिंग कि आज हम बात कर रहे हैं वह इंटरनेशनल मार्केट में ट्रेडिंग (Trading in the International Market) करने की विधि है. दरअसल international market mein Trading करना आसान भी है लेकिन कौन सा शेयर कब खरीदना है और कब बेचना है, इसकी जानकारी के लिए काफी आवश्यक है. क्योंकि इसी से आप का मुनाफा और नुकसान तो होता है. नए लोग ट्रेडिंग कैसे करें, ट्रेडिंग से संबंधित सभी जानकारियां प्राप्त करने के लिए हमारे Online Trading Article के साथ बने रहे.

Trading क्या है | नए लोग Online Trading कैसे करें

हम सभी अपने दैनिक जीवन में trading जरूर करते हैं. दरअसल यह वही है जो एक दुकानदार आपके साथ करता है. यानी आप थोक में किसी वस्तु को बाजार की कीमत से कम रेट पर खरीद लेते हैं. जबकि जब आप उसे बेचते हैं तो उसे थोड़ा अधिक रेट में  बेचते हैं, जिससे आप का लाभ होता है. यही trading activity कहलाता है. लेकिन जिस ट्रेडिंग कि आज हम बात कर रहे हैं वह आम जिंदगी और गली मोहल्ले की खरीदारी से अलग है. आज हम Stock Trading in the International Market के बारे में बात करेंगे. trading में हम शेयर मार्केट (stock market) से शेयर खरीदने और बेचने (buying and selling shares) का काम करते हैं। जहां हम stock exchange से share कम कीमत पर खरीदते हैं और उस share की कीमत ज्यादा होने पर उसे बेच देते हैं। इस प्रक्रिया को trading कहते हैं .

Stock Market Trading: ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए

हमेशा लोग आमतौर पर शेयर बाजार का जिक्र सुनते रहते हैं. दरअसल बड़ी कंपनियां अपनी पूंजी को  शेयर के रूप में बाजार में प्रस्तुत करती हैं. कोई भी व्यक्ति इन शेयर को खरीद सकता है. कंपनियां समय-समय पर खरीदारों को आमंत्रित करती हैं जो उनका शेयर खरीदना चाहते हैं. अब कंपनी के उस share का मालिक वह खरीदार होता है जिसने उसे खरीदा है. कोई भी व्यक्ति किसी भी कंपनी का शेयर खरीदकर उसे अधिक दाम में बेच कर मुनाफा कमा सकता है. इसी को अंतरराष्ट्रीय बाजार की भाषा में Trading कहा जाता है. 

Trading को उदाहरण के साथ समझते हैं

कोई व्यक्ति अंतरराष्ट्रीय बाजार में 1 शेयर खरीदना है जिसकी कीमत आज ₹3000 है, अब इस share का अधिकारी वह व्यक्ति ही होगा जिसने उसे खरीदा है. वह व्यक्ति 1 साल के भीतर कंपनी के इस share को किसी दूसरे व्यक्ति को बेच सकता है, दूसरा व्यक्ति उस समय मार्केट में चल रही वैल्यू के हिसाब से शेयर खरीद लेता है, उदाहरण के लिए जब शेयर बेचा गया तो मार्केट में उसकी कीमत ₹3500 थी, इस प्रकार व्यक्ति ने ₹3000 का शेयर खरीद कर कुछ दिनों बाद या 1 साल के अंदर ₹3500 में बेच दिया और ₹500 का मुनाफा कमा लिया. इसी को Trading कहते हैं.

Note: जरूरी नहीं कि आपके द्वारा खरीदा गया शेयर भविष्य में आपको लाभ दें, कई बार ऐसा भी होता है कि आपने जिस कीमत पर शेयर खरीदा था मार्केट में उसके वैल्यू लगातार घटती रहती है और आपको घाटे में उसे बेचना पड़ता है. इसलिए हमेशा शेयर खरीदते समय उस मार्केट की पूरी पड़ताल और व्यापारी गतिविधियों की खबर रखनी चाहिए.

Earn Money Online: घर बैठे लाखों कमाए | मोबाइल से पैसा कमाना है आसान, जानिए कैसे?

ट्रेडिंग के प्रकार

विभिन्न प्रकार के शेयर मार्केट में मौजूद हैं जिन्हें आप निम्नलिखित ट्रेंडिंग की विधियों के अनुसार खरीद और बैच सकते हैं:

  • Scalping Trading
  • Intraday Trading
  • Swing Trading
  • Positional Trading

Scalping Trading Kya Hai?

यह Trading की एक ऐसी विधि है जिसमें शेयर बाजार से शेयर खरीद कर उसे 1 घंटे या उसके आसपास के समय में बेच देते हैं. यानी सुबह 9:15 के बाद से आप अंतरराष्ट्रीय शेयर खरीद सकते हैं और उसे 10:00 या 10:30 तक भेज दें तो उसे Scalping Trading कहा जाएगा. इस प्रकार के ट्रेड खरीदते समय बहुत चौकन्ना रहना पड़ता है.

Intraday Trading Kya Hai?

जैसा कि नाम ही से पता चल रहा है, यह ट्रेडिंग की एक ऐसी विधि है जिसमें 1 दिन के भीतर ही आप ट्रेडिंग कर सकते हैं. यानी सुबह आपको शेयर खरीदना है और उसे शाम 3:30 से पहले बेच देना है. इसके लिए आप पूरे दिन में किसी भी समय शेयर खरीद और बेच सकते हैं.

Swing Trading Kya Hai?

यह Trading की एक ऐसी विधि है जिसमें कोई व्यक्ति शेयर खरीद कर 1 दिन से अधिक या कुछ हफ्तों तक उस शेयर को अपने पास होल्ड रख सकता है. इस प्रकार मार्केट में उसके शेयर की कीमत बढ़ जाने के समय वह उसको बेचकर अधिक मुनाफा कमा सकता है.

Google Pay से कमाएं हर घंटे ₹500 से ₹1000 | Free Me Paisa Kaise Kamaye?

PFMS Payment Status : तुरंत चेक करें अपने बैंक खाते में पैसा

PM Scholarship Scheme 2022 Online Apply: प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना, 36000 प्रति वर्ष?

BOB Mudra Loan: पाएं 5 मिनट में 50,000 रुपए, ऐसे करें अप्लाई

PM E Mudra Loan: सरकार दे रही 5 लाख का लोन, वो भी बिना ब्याज़

Positional Trading Kya Hai?

position trading अंतरराष्ट्रीय बाजार में ट्रेडिंग करने के लिए एक साल की अवधि के भीतर का समय देता है. यानी आप बाजार से शेयर खरीद कर उसे कुछ महीनों या 1 साल के भीतर मूल्य में वृद्धि होने पर बेचकर अधिक मुनाफा कमा सकते हैं.

इस प्रकार आप अंतरराष्ट्रीय बाजार में ट्रेडिंग अकाउंट ओपन (Trading account open in international market) करके ट्रेडिंग कर सकते हैं. याद रहे ट्रेडिंग करने के लिए अधिकतम अवधि 1 साल की होती है. यदि आप 1 साल से ज्यादा कोई शेयर खरीद कर रखते हैं तो हो सकता है कि वह ट्रेडिंग ना होकर इन्वेस्टमेंट बन जाए. 

Trading और Investment में क्या अंतर है?

  • trading में शेयरों को छोटी अवधि के लिए खरीदा जाता है। जबकि investment में शेयरों को लंबे समय के लिए खरीदा जाता है।
  • ट्रेडिंग में technical analysis की जानकारी होना जरूरी है। साथ ही निवेश में fundamental analysis की जानकारी लेनी चाहिए।
  • trading की अवधि 1 वर्ष तक है। वहीं investment की अवधि 1 साल से ज्यादा है।
  • trading करने वाले व्यक्ति traders कहलाते हैं। investments करने वाले लोग investor कहलाते हैं।
  • व्यापार अल्पकालीन लाभ (short term profits ) कमाने के लिए किया जाता है जबकि निवेश दीर्घकालीन लाभ (long term profits) कमाने के लिए किया जाता है।

Leave a comment