Old Pension Scheme: सरकारी कर्मचारियों की लग गई लॉटरी, पुरानी पेंशन बहाली लेटेस्ट न्यूज़

हम सभी जानते हैं कि Pension कितनी महत्वपूर्ण है। लेकिन इसी बीच साल 2000 में Atal Bihar Vajpayee के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने retirement के बाद केंद्रीय कर्मचारियों को Pension देने के नियम को खत्म कर दिया था। इस व्यवस्था के बंद होते ही देशभर के कर्मचारियों को बड़ा झटका लगा। इस नियम के बंद होने के बाद से ही कर्मचारियों के संगठन Pension बहाली की मांग कर रहे हैं, जिसका असर फिलहाल कुछ राज्यों में देखा जा रहा है। कुछ जगहों पर old pension को बहाल करने का भी फैसला लिया गया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि अब केंद्रीय कर्मचारी लगातार पुरानी पेंशन (old pension scheme) को लागू करने की मांग कर रहे हैं। इसलिए अब माना जा रहा है कि मोदी सरकार Purani Pension बहाल करने को लेकर चौंकाने वाला ऐलान कर सकती है। हां, वह बात अलग है कि इस पर भाजपा की ओर से अभी तक कोई आधिकारिक आदेश नहीं आया है, लेकिन मीडिया में यह बात लगातार आ रही है। सूत्रों की मानें तो मोदी सरकार 2024 Lok Sabha elections से पहले इस पर विचार कर सकती है।

मान लीजिए अगर old pension बहाल हो जाती है तो कर्मचारियों के एक बड़े वर्ग को बंपर लाभ मिलेगा। इतना ही नहीं, संसद के पिछले सत्र में वित्त राज्य मंत्री भागवत कराड भी पेंशन बहाली को लेकर अपना स्टैंड साफ कर चुके हैं।

Old Pension Scheme
Old Pension Scheme

क्या है पेंशन योजना?

नई पेंशन योजना (New Pension Scheme) को नेशनल पेंशन स्कीम (National Pension Scheme) के नाम से भी जाना जाता है। इसमें केंद्रीय कर्मचारियों के मूल वेतन और महंगाई भत्ते की 10 फीसदी कटौती की जाएगी। वैसे ये सारी बातें NPS शेयर बाजार की चाल पर भी निर्भर करती हैं। इतना ही नहीं, 60 साल की उम्र के बाद पेंशन पाने के लिए NPS Fund का 40 फीसदी निवेश करना होता है। लेकिन ध्यान रहे कि योजना में retirement के बाद pension की कोई गारंटी नहीं है।

OPS को लागू करने पर मंत्रालय का निर्णय

केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर आई है। आने वाले दिनों में उन्हें एक बार फिर पुरानी पेंशन योजना (Old Pension Scheme OPS) का लाभ मिल सकता है। सूत्रों की मानें तो Modi Government साल 2024 से पहले इस पर विचार कर सकती है। कर्मचारियों की लंबे समय से चली आ रही मांग को पूरा करने के लिए मंत्रालय से सलाह मांगी गई है। old pension scheme को लेकर केंद्र सरकार के कानून मंत्रालय से राय मांगी गई थी। इसमें पूछा गया था कि किस विभाग में पुरानी पेंशन योजना (Old Pension Yojana OPS) लागू की जा सकती है। हालांकि अभी तक मंत्रालय की तरफ से कोई ठोस जवाब नहीं मिला है।

कब लागू हो सकती है Old pension Yojana?

सूत्रों की माने तो केंद्र सरकार भले ही अभी तक Purani pension Yojana को लेकर कोई ठोस जवाब नहीं दे रही है। लेकिन, चुनाव में विपक्ष जिस तरह इस मुद्दे को भुना रहा है, उसका असर आने वाले दिनों में देखने को मिल सकता है। यही कारण है कि केंद्र सरकार उन सरकारी कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना (OPS) देने पर विचार कर सकती है, जिनकी भर्ती के लिए विज्ञापन 31 दिसंबर, 2003 को या उससे पहले जारी किए गए थे। विकास मंत्रालय के राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह के अनुसार उत्तर पूर्वी क्षेत्र, प्रधानमंत्री कार्यालय, परमाणु ऊर्जा विभाग और अंतरिक्ष विभाग की old pension decision बहुत बड़ा है। इस पर Law Ministry से राय मांगी गई थी। इस पर मंत्रालय के जवाब के बाद ही कोई फैसला लिया जा सकता है।

Old Pension vs New Pension Scheme: पुरानी और नई पेंशन पॉलिसी के बीच कौन अधिक बेहतर?

Old Vs New Pension Scheme : हजारों कर्मचारियों की हुई बल्ले बल्ले, पेंशन योजना पर आया सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

7th Pay Commission: मोदी सरकार का बड़ा फैसला- Family Pension 30% से बढ़कर 50%

old pension scheme के 3 बड़े फायदे

1- ops में पेंशन अंतिम आहरित वेतन के आधार पर बनाई गई थी।
2- ops में महंगाई दर बढ़ने से DA (Dearness Allowance) भी बढ़ जाता था।
3- सरकार जब new Pay Commission लागू करती है तब भी pension में बढ़ोतरी करती है।

केंद्र सरकार ने साल 2004 में New Pension System लागू किया था. इसके तहत New Pension Scheme के फंड के लिए अलग से खाते खोले गए और फंड के निवेश के लिए फंड मैनेजर भी नियुक्त किए गए. अगर Pension Fund के निवेश का रिटर्न अच्छा है तो Provident Fund और पेंशन की पुरानी योजना की तुलना में नए कर्मचारियों को भी भविष्य में रिटायरमेंट के समय अच्छी रकम मिल सकती है। लेकिन कर्मचारियों का कहना है कि पेंशन फंड के निवेश का रिटर्न बेहतर होगा, यह कैसे मुमकिन है। इसलिए वे 7th Pay Commission के तहत old pension scheme लागू करने की मांग कर रहे हैं।

Leave a comment