मेघालय चुनाव में उम्मीदवारों के नामों की घोषणा – चेक लिस्ट

मेघालय में स्थानीय राजनीतिक दलों द्वारा राज्य में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों (Meghalaya assembly elections 2023) के लिए उम्मीदवारों की घोषणा शुरू कर दी गयी है और ये विधानसभा चुनाव अगले साल की शुरुआत में होने वाले हैं। सत्तारूढ़ Meghalaya Democratic Alliance (MDA) में भाजपा और United Democratic Party (UDP) सहित कुल पांच दल शामिल हैं, जो गठबंधन में दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है।

गठबंधन द्वारा अपने उम्मीदवारों की पहली सूची की घोषणा कर दी गयी है, जो आगामी विधानसभा चुनावों में 32 निर्वाचन क्षेत्रों से चुनाव लड़ेंगे। जैसा की आपको पता ही होगा कि यूडीपी (United Democratic Party) मेघालय के बड़े क्षेत्रीय राजनीतिक दलों में से एक है। इस बार UDP द्वारा इस सूची के लिए अपने 32 प्रत्याशियों के नाम की घोषणा की गयी है। इस सूची में 3 कैबिनेट मंत्री और 7 विधायकों के नाम शामिल किये गए हैं।

यूडीपी अध्यक्ष Metbah Lyngdoh ने कहा कि एक मजबूत-स्वतंत्र राजनीतिक की आवश्यकता बढ़ रही है, जो राज्य के लोगों की जरूरतों और आकांक्षाओं के लिए कार्य कर सके। Metbah Lyngdoh, जो मेघालय विधानसभा के अध्यक्ष हैं, मैरांग सीट से चुनाव लड़ेंगे। अन्य उम्मीदवारों में वर्तमान कैबिनेट मंत्री किरमेन शायला (खलीहरित), लहकमेन रिम्बुई (अमलारेम) और ब्रोल्डिंग नोंगसीज (मावथद्रैशन) शामिल हैं।

Meghalaya assembly elections 2023
Meghalaya assembly elections 2023

चुनाव – अगले साल फरवरी 2023

मुख्यमंत्री कोनराड संगमा की पार्टी नेशनल पीपुल्स पार्टी या NPP ने अभी तक आगामी चुनावों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है और भाजपा, जो सत्तारूढ़ गठबंधन का हिस्सा है, ने संकेत दिया है कि वह राज्य में अपने दम पर चुनाव लड़ेगी। कोनराड संगमा ने यह भी संकेत दिया है कि उनकी पार्टी विशेष रूप से NPP के नेतृत्व वाले मेघालय डेमोक्रेटिक एलायंस (MDA) में सहयोगी एनपीपी और बीजेपी के बीच पिछले कई महीनों से गंभीर रूप से तनावपूर्ण संबंधों के चलते अकेले चुनाव लड़ेगी।

भाजपा ने हाल ही में मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा को गारो हिल्स में दक्षिण तुरा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने की चुनौती दी थी, जबकि यह दावा किया था कि लोगों ने एनपीपी को सत्ता से बाहर करने का मन बना लिया है। जानकारी के अनुसार बीजेपी आलाकमान ने पार्टी की राज्य इकाई को आगामी चुनाव के लिए सभी 60 सीटों के लिए उम्मीदवारों को अंतिम रूप देने का निर्देश दिया है। कोनराड संगमा ने राज्य विधानसभा की 60 सीटों में से 58 उम्मीदवारों के नाम तय कर दिए हैं। इसके साथ ही बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 12 दिसंबर से दो दिनों के लिए राज्य का दौरा करने वाली हैं।

ममता बनर्जी अपनी यात्रा के दौरान विधानसभा चुनाव के लिए अपनी पार्टी की रणनीति पर चर्चा करेंगी। उनकी पार्टी का नेतृत्व पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा द्वारा किया जायेगा, जो कांग्रेस से टीएमसी में आ गए हैं और टीएमसी को राज्य में मुख्य विपक्षी दल बना दिया। पिछले महीने, टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी ने दो दिवसीय यात्रा पर राज्य का दौरा किया, जहां उन्होंने तुरा शहर में तेतेंग अजा इलाके में पार्टी के कार्यालय का उद्घाटन किया और संकेत दिया कि पार्टी राज्य में मुकुल संगमा के नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी। मेघालय विधानसभा में 60 सीटें हैं और चुनाव अगले साल फरवरी 2023 में होने वाले हैं।

तीन राज्यों में अगले साल चुनाव

Meghalaya के साथ-साथ Nagaland और Tripura में भी अगले साल विधानसभा चुनाव (Assembly elections) होने हैं। माना जा रहा है कि अगले साल की शुरुआत में इस बारे में कोई घोषणा हो सकती है। भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India ) इन राज्यों में चुनाव कराने के लिए पूरी तरह से तैयार है.

यही वजह है कि Election Commission ने मेघालय के साथ-साथ नगालैंड और त्रिपुरा के संबंधित मुख्य सचिवों को उन अधिकारियों के तबादले के निर्देश जारी किए हैं, जो फिलहाल अपने नागरिकों को चुनाव ड्यूटी पर रोक रहे हैं. साथ ही पिछले 4 साल में एक ही जिले में 3 साल की सेवा पूरी करने वाले अधिकारियों को भी स्थानांतरित करने का निर्देश दिया है. मेघालय और नगालैंड में विधानसभाओं का मौजूदा कार्यकाल 15 मार्च और 12 मार्च को खत्म हो रहा है. वहीं अगर त्रिपुरा की बात करें तो यहां की सरकार का कार्यकाल 22 मार्च को खत्म हो रहा है

Leave a comment