Indira Mahila Shakti Kaushal Samarth Yojana महिलाओं के लिए धांसू योजना, मुफ्त में ट्रेनिंग-रोजगार

महिला कल्याण के लिए राजस्थान सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। महिलाओं के आचार, आहार और व्यवहार में बदलाव लाकर उन्हें सुखी, स्वस्थ और स्वावलंबी बनाने के लिए राज्य सरकार द्वारा राज्य में महिला सशक्तिकरण से संबंधित विभिन्न कार्यक्रम एवं योजनाएं चलाई जा रही हैं।

ऐसी ही एक योजना है राजस्थान कौशल आजीविका विकास निगम और महिला अधिकारिता निदेशालय के सहयोग से चलाई जा रही इंदिरा महिला शक्ति कौशल समर्थ योजना (Indira Mahila Shakti Kaushal Samarth Yojana)।

Indira Mahila Shakti Kaushal Samarth Yojana

राज्य सरकार का उद्देश्य IM Shakti Kaushal Samarth Yojana के माध्यम से महिलाओं को उनके पसंदीदा क्षेत्र में नि:शुल्क प्रशिक्षण देकर रोजगार एवं स्वरोजगार के लिए तैयार करना है ताकि उनका जीवन स्तर उत्कृष्ट बनाया जा सके। इस योजना के जरिए महिलाओं को परिधान, आईटी, लॉजिस्टिक्स, रिटेल, इलेक्ट्रॉनिक, हेल्थ केयर, ब्यूटी एंड टूरिज्म, हैंडीक्राफ्ट आर्ट समेत कुल 35 सेक्टर में ट्रेनिंग दी जाती है। इस योजना के तहत आज महिलाएं समाज में अपनी पहचान बनाकर सशक्तिकरण की नई मिसाल पेश कर रही हैं।

2 हजार से अधिक महिलाओं ने प्रशिक्षण लिया

राजस्थान सरकार के अनुसार इस योजना के माध्यम से अब तक लगभग 2035 महिलाओं का उद्यमिता विकसित किया जा चुका है जिससे उन्हें रोजगार और स्वरोजगार के पर्याप्त अवसर प्राप्त हो सकें। इसके साथ ही राज्य सरकार की इस जनकल्याणकारी योजना पर अब तक लगभग 2.14 करोड़ रुपये की राशि व्यय की जा चुकी है।

राज्य की महिलाओं को विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए जयपुर, टोंक, कोटा और राज्य के कई अन्य जिलों में कुल 33 Kaushal Vikas Kendras (Skill Development Centers) संचालित किए जा रहे हैं।

Mahila Samman Saving Certificate: शानदार स्कीम! 2 साल में ही जमा होंगे लाखों रुपये- आवेदन शुरू

All India Scholarship 2023 : सभी छात्रो को मिलेगी 75000 रुपए तक की छात्रवृत्ति, ऐसे करें आवेदन

Online Loan: घर बैठे मिलेगा 20000 का लोन, तुरंत करें ये काम

योजना के लिए योग्यता और आवेदन

राजस्थान की 16 वर्ष या इससे अधिक आयु की कोई भी महिला इस योजना के लिए आवेदन कर सकती है तथा योजना का लाभ उठा सकती है। विभाग एकल महिला, सिलिकोसिस पीड़ित, बीपीएल, आर्थिक रूप से पिछड़े, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति की महिलाओं एवं बालिकाओं को प्रशिक्षण में प्राथमिकता देता है।

इस योजना के लिए राज्य की कोई भी महिला अथवा बालिका ऑफलाइन आवेदन कर नि:शुल्क प्रशिक्षण प्राप्त कर सकती है। विभाग द्वारा अनुबंधित निजी प्रशिक्षण केन्द्रों को आवश्यक दस्तावेज प्रस्तुत कर योजना से जोड़ा जा सकता है। प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिये इन प्रशिक्षण केन्द्रों द्वारा तहसील या प्रखंड स्तर पर आयोजित प्रशिक्षण शिविरों में प्रशिक्षण लिया जा सकता है.

Leave a comment