GPS Toll System: टोल प्लाजा होंगे बंद, GPS नंबर प्लेट से जितना चलेंगे उतना कटेगा

GPS Toll System: अगर आप भी टोल प्लाजा पर लगने वाले भारी जाम से परेशान हैं. तो यह खबर आपके लिए खुशखबरी है. हाल ही में सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी द्वारा यह घोषणा करी गई है कि हाईवे से सभी टोल प्लाजा को हटाया जाएगा. जी हां अब आपको एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने के लिए टोल प्लाजा पर रुकने की जरूरत नहीं है.

इससे ना केवल आपका समय बचेगा बल्कि जाम के कारण खर्च होने वाला आपका इंधन भी बचेगा. दरअसल सरकार द्वारा यह योजना बनाई जा रही है कि अब हर एक गाड़ी पर GPS Number Plate लगाई जाएगी. इसकी मदद से आपको manual toll जमा करने के लिए लाइन में लगना नहीं होगा. जो भी नई गाड़ियां आएंगे उनके साथ GPS Number Plate लगाया जाएगा. पूरी खबर हम आपको इस लेख में दे रहे हैं

GPS Toll System:

GPS Toll System: New GPS Number Plate Scheme 

आपको बता दें कि केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी द्वारा की गई घोषणा के अनुसार सरकार द्वारा यह व्यवस्था करे जा रही है कि आप सभी गाड़ियों में नए जीपीएस पर आधारित नंबर प्लेट लगाए जाएंगे. इससे पहले गाड़ियों में लगने वाले नंबर प्लेट में gps system नहीं था. इसका प्रयोग करके सेटेलाइट के माध्यम से सरकार द्वारा इन पर निगरानी करना आसान हो जाएगा. इसके साथ ही टोल टैक्स के लिए लंबी लाइन भी नहीं लगानी पड़ेगी. हालांकि सरकार अभी केवल इस योजना पर विचार कर रही है. यदि यह योजना पूरी तरह से बन जाती है और लागू हो जाती है तो इससे भारत के नागरिकों को सीधा लाभ पहुंचेगा.

GPS Toll System: Toll Plaza पर रुकने की जरूरत नहीं

 GPS-Based Toll Collection System: हम सभी जानते हैं कि नेशनल हाईवे पर सफर करते समय हमें राज्य बदलने के साथ ही Toll Tax भी देना होता है. इसके लिए हमें एक लंबी कतार का सामना करना पड़ता है. ऐसे कई लोग हैं जो दिन में रोज एक राज्य से दूसरे राज्य जाते हैं. जितना समय उन्हें सफर करने में नहीं लगता उतना ही समय उनको केवल इस जाम का सामना करने में लग जाता है. ऐसे में GPS Number Plate की योजना नागरिकों को लाभ प्रदान करेगी. दरअसल यह योजना पास हो जाने के बाद सभी हाईवे से Toll Plaza हटा दिए जाएंगे.

इसकी जगह पर डिजिटली स्कैन करने वाले कैमरे लगाए जाएंगे.  जैसे ही आप उस टोल प्लाजा से अपनी गाड़ी गुजारेंगे. यह कैमरे आप की नंबर प्लेट को पढ़ लेंगे. इसके साथ ही आपके नंबर प्लेट में लगा GPS भी इसका संकेत सरकार तक पहुंचा देगा. इसके बाद आपके बैंक से उस टोल से गुजरने से संबंधित राशि निकाल ली जाएगी. इस प्रकार टेक्नोलॉजी का प्रयोग करके सड़क पर होने वाले जाम से बचा जाएगा. इसके साथ ही आपके बैंक से ऑटोमेटिक पैसे कट जाएंगे. हालांकि इसके लिए आपके बैंक से अतिरिक्त राशि नहीं वसूली जाएगी.

Car Loan: कम ब्याज़ पर कार लोन – Apply Car/Auto Loan Online in India

Electric Vehicle Certificate Course (Free): इलेक्ट्रिक वाहन फ्री कोर्स करें | रजिस्ट्रैशन लास्ट डेट – दिसम्बर, 2022

Sarathi Parivahan Sewa Registration & Login Direct Link @parivahan.gov.in : घर बैठे ऐसे बनवाएं ड्राइविंग लाइसेंस

Alert! अब सड़क पर नहीं दौड़ेगी 15 साल पुरानी गाड़िया, केंद्र सरकार ने जारी किये नए निर्देश

Download Driving License (DL), Insurance Certificate, RC & PUC Online

mParivahan Sewa portal: Check parivahan RC status online

क्या है GPS Number Plate

यह नए तरह के नंबर प्लेट हैं जिन्हें High Security Registration Plates (HSRP) भी कहा जाता है. इसके माध्यम से आपके नंबर प्लेट पर जीपीएस सिस्टम (New GPS Toll Collection Technology) लगा दिया जाता है और इसको सेटेलाइट से जोड़ दिया जाता है. जैसे ही आप किसी टोल प्लाजा से गुजरते हैं, यह सेटेलाइट आपकी इंफॉर्मेशन ले लेती है और उसी के अनुसार आपके बैंक से पैसे काट लिए जाते हैं.

हालांकि सरकार द्वारा यह योजना हाईवे पर होने वाले जाम को कम करने के लिए है. लेकिन इससे देश में धोखाधड़ी और अपराधिक मामले भी कम होंगे. सरकार सिस्टम के अंदर आपकी गाड़ी की जानकारी GPS के माध्यम से तुरंत बता दी जाएगी. इसलिए यदि भविष्य में आपकी गाड़ी चोरी होती है, क्या किसी अपराध के द्वारा किसी गाड़ी के माध्यम से एक जगह से दूसरी जगह जाता है. तो सरकार को इसकी जानकारी मिल जाएगी. इस प्रकार यह योजना सरकार और नागरिक दोनों ही के लिए लाभकारी है. 

हजारों करोड का नुकसान Toll से हो रहा था 

 हालांकि सरकार द्वारा टोल प्लाजा से टैक्स के रूप में राशि प्राप्त की जाती है जिससे सरकार सड़क एवं परिवहन की व्यवस्था को बनाए रखती है और दूसरे कार्य में भी इसका उपयोग करती है. इससे सरकार को काफी लाभ होता है. लेकिन टोल प्लाजा का दूसरा पहलू यह है कि लंबी कतारों में खड़े रहने के कारण नागरिकों की गाड़ी का इंधन लगातार खर्च होता रहता है. एक रिपोर्ट के अनुसार 1 साल में लगभग 1लाख करोड रुपए का तेल केवल टोल की लाइन में लगे लगे ही खर्च हो जाता है. इसके अलावा लगभग 45 हजार करोड़ रुपए का नुकसान 1 साल में नागरिकों को Toll लाइन में खड़े रहने के कारण होता है. इससे अब अप्रत्यक्ष रूप से इस घाटे से नागरिक बच जाएंगे. और इंधन जैसे कीमती संसाधन का दुरुपयोग होने से भी बच जाएगा.

GPS Toll Plaza क्या है?

सरकार द्वारा इस योजना पर विचार किया जा रहा है जिसके माध्यम से सड़क से टोल प्लाजा को हटा दिया जाएगा और इसकी जगह जीपीएस से लिंक नंबर प्लेट को scan करने वाली मशीन लगाई जाएगी जो ऑटोमेटिक टैक्स बैंक के माध्यम से काट लेगी.

GPS Number Plate  क्या है?

 हर एक नागरिक को जिसके पास वाहन है अपने वाहन पर पुराने नंबर प्लेट की जगह नए जीपीएस नंबर प्लेट लगाने होंगे. यह जीपीएस सरकार के सेटेलाइट से लिंक होगा और आपको टोल टैक्स चुकाने में सुविधा प्रदान करेगा. 

NIT MEGHALAYA HOMEPAGECLICK HERE

Leave a comment