क्या है EPF? और यदि एक से अधिक EPF UAN Number हैं तो कैसे करें डिएक्टिवेट

EPF UAN Number: PF मतलब employee provident fund (कर्मचारी भविष्य निधि) ये वेतन जीवी कर्मचारियों के लिए एक आशीर्वाद की तरह है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य है कम्पनी अथवा नियोक्ता द्वारा अपने कर्मचारियों को एक सुरक्षीत भविष्य प्रदान करना। EPF की शुरुवात सरकारी तथा प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारियों के लिए बचत के माध्यम के रूप में 1952 में हुई थी। तब से अब तक इसमे करीबन 15 बार संशोधन किया जा चुका है। EPF कर्मचारियों को भविष्य की सुरक्षा प्रदान करता है।

जिसमे नियोक्ता Employer अपने Employee के वेतन में से एक निश्चित हिस्सा काट कर उसे उसकी भविष्य निधि में जमा करता है। यह वेतन का 12% होता है। इसमे नियोक्ता को भी अपनी तरफ से कर्मचारियों के खाते में कुछ 12% तक कि राशि जमा करनी होती है। यह एक तरह से निवेश का काम करता है जिसपर नियमित ब्याज मिलता है और epf की राशि महीने दर महीने बढ़ती रहती है। इसमे मिलने वाला ब्याज कर मुक्त होता है और रिटायरमेंट के बाद जब यह राशि मिलती है तो एक बहुत बड़ी रकम के तौर पर मिलती है जिसपर कोई TAX नही लगता।

इस योजना का लाभ कौन कौन ले सकता है

हर वह संस्था जिसमें 20 से ज्यादा कर्मचारी हैं उन्हें अपने कर्मचारियों को इस सुविधा का लाभ देना आवश्यक है। कोई भी कर्मचारी जिस वक्त कोई कम्पनी जॉइन करता है उसे तभी ही epf Form भरना होगा। एम्प्लोयी या एम्प्लायर भविष्य निधि पोर्टल पर जाकर रेजिस्टर कर सकते हैं और epf Account खोल सकते हैं।

क्या है EPF और यदि एक से अधिक EPF UAN Number हैं तो कैसे करें इसे डिएक्टिवेट

एक से अधिक के EPF UAN है तो क्या करें?

कर्मचारी जब नौकरी बदलते हैं तो अक्सर ये होता है कि एक से अधिक EPF खुल जाते आ हैं। एम्प्लोयी जब जॉब चेंज करता है यो UAN एक ही रहता है मगर कई  बार नये UAN से खाता खोला जाता है जिससे कि कर्मचारी के लिए इतने सारे epf Account Maintain करना मुश्किल हो जाता है। अलग अलग खातों की जगह आप जॉब चेंज करने के बाद भी एक ही EPF Account से अपने खाते का संचालन कर सकते हैं इसके लिए आपको एक्टिव UAN के अलावा बाकी सारे UAN डिएक्टिवेट करने होते हैं. इसके लिए आप ऑफलाइन या ऑनलाइन दोनो तरीके इस्तेमाल कर सकते हैं

आइये हम आपको बताते हैं इसके दोनो तरीके

किस तरह करें UAN को ऑफलाइन डिएक्टिवेट

  • इसके लिए सबसे पहले आपको अपने नए नियोक्ता employer को बताना होता है।
  • आप [email protected] पर मेल करके epf ऑफिस को सूचित कर सकते है
  • इस email में आपको अपने सारे EPF UAN की जानकारी देना अत्यावश्यक है।
  • आपका मेल मिलते ही ऑफिस सारा वेरीफिकेशन करेगा
  • वेरिफिकेशन के बाद आपके सारे UAN बन्द कर दिए जाएंगे और केवल चालू UAN ही एक्टिव रहेगा।
  • इसके बाद आपको सारे PF Funds को उसी एक्टिव EPF में ट्रांसफर करना होगा
  • इस तरह आपके सारे EPF एक जगह मर्ज़ हो जायेंगे और आपको अलग अलग अकॉउंट को मैनेज करने की परेशानी से छुटकारा मिल जाएगा

ये तो था ऑफलाइन तरीका यदि आप ऑनलाइन तरीके से सारे UAN डिएक्टिवेट कर केवल एक ही जगह से इस खाते को चलाना चाहते हैं तो आप को निम्नलिखित तरीके को अपनाना होगा

EPF Account KYC : EPF खाते में ऐसे करें KYC Update, तभी मिलेगा पैसा

Free Laptop Yojna 2022: सरकार सभी को दे रही 25000₹, ऐसे ले लाभ?

Work From Home Scheme(आवेदन शुरू): घर बैठे पाएं नौकरी, 5वीं पास भी कर सकते हैं आवेदन

New Aadhar Card Kaise Banay: अगर आप भी बनवाना चाहते हैं नया आधार कार्ड तो ऐसे करें आवेदन

SBI E Mudra Loan : बिना किसी दस्तावेज के 5 मिनट मे पाए लोन, ऐसे करें अप्लाई

किस तरह करे UAN ऑनलाइन डिएक्टिवेट

  • सबसे पहले EPFO की ऑफिशयल वेबसाइट पर विजिट करें
  • वहां होम पेज पर आपको one member one account ऑप्शन दिखेगा। उसे क्लिक करें
  • आपको अपने हाल ही में काम आने वाले UAN और पासवर्ड से one member one account में login करना होगा
  • इसके बाद आपको online services का ऑप्शन दिखेगा उसे क्लिक कीजिए
  • वहां आपको request for transfer of account ऑप्शन दिखेगा उसे क्लिक कीजिए।
  • यहां पुराने PF अकॉउंट को नए UAN से लिंक करने के लिए रिक्वेस्ट कीजिये
  • ऐसा करते ही सिस्टम आपके पुराने खातों के फंड्स को नए UAN वाले खाते में ट्रंसफर करने के लिए वेरिफिकेशन करना शुरू कर देगा।
  • वेरिफिकेशन पूरा होने पर EPFO खुद ही आपके पुराने सारे खातों को नए EPF में ट्रांसफर कर आपके सारे पुराने UAN नम्बर डिएक्टिवेट कर देता है और मौजूदा खाते का UAN एक्टिवेट रखता है।

इस प्रकार आसानी से आप अपने पुराने UAN डिएक्टिवेट कर झंझट से मुक्त होकर एक ही UAN से सारा EPF खाता सम्भाल सकते हैं ।

EPF को Online Transfer करने का तरीका

  • इसके लिए आपको सबसे पहले ऑफीशियल वेबसाइट पर जाना होगा और login करना होगा।
  • इसके बाद online services में login करें
  • नया पेज़ खुलने पर one member one epf पर क्लिक करे
  • यहां एक और नया पेज़ खुल जायेगा
  • अब आप यहां अपनी पर्सनल डिटेल चेक कर सकते हैं जिसके लिए आपको get details ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • यहां क्लिक करते ही आपसे otp मांगा जाएगा।
  • आपके रेजिस्टर मोबाइल पर आपको otp मिलते ही आपको वही otp वहाँ भरना होगा
  • अब आपको फॉर्म 13 मिलेगा जिसे आपको बेहद सावधानीपूर्वक भरना होगा।
  • इसके बाद एक ट्रेकिंग आईडी खुलेगी। इससे आप अपने PF अकॉउंट के ट्रांसफर को चेक कर सकते है।
  • आपको फॉर्म 13 को भरकर इसका प्रिंटआउट लेना होगा और उसे अपने एम्प्लायर को भेजना होगा
  • आपके नए और पुराने एम्प्लायर इसे वेरीफाई करेंगे और जानकारी सही होने पर इसे अप्रूव कर देंगे। 
  • इसके बाद आपका pf पुराने एम्प्लायर से नए epf में ट्रांसफर हो जाएगा।

इस प्रकार आपने देखा कि किस तरह चुकटियों में आसानी से आप अपने PF अमाउंट को ट्रान्सफ़र कर सकते हैं। 

निष्कर्ष

आशा है इस पूरे लेख से आपको EPF क्या है और आप इसके लिए किस प्रकार आवेदन कर सकते है तथा साथ ही जॉब बदलने के बाद आप किस तरह अलग अलग EPF को एक ही जगह मैनेज कर सकते है इसकी जानकारी भी मिल गई होगी। एक से अधिक UAN भी किस तरह आसानी से डिएक्टिवेट करें इसकी जानकारी भी हमने आपको इस लेख में उपलब्ध करवाई है। 

उम्मीद है लेख की मदद से आपके EPF सम्बंधित सारे प्रश्नो के उत्तर मिल गए होंगे। आप भी यदि EPF का फायदा सुरक्षित भविष्य के रूप में उठाना चाहते हैं तो आज ही EPF अकॉउंट खोलें और अपने One member one account का लाभ उठाएं।

NIT Meghalaya

Leave a comment