“दो गज दूरी, मास्क है जरूरी”: फिर से छाया Corona का कहर, हुई इतनी मौते

हमारे प्रिय दोस्तों, दो गज दूरी, मास्क है जरूरी यह नारा विश्व स्तर पर प्रत्येक राष्ट्र में प्रचलित रहा है. तो आप सही समझ रहे हैं हम कोरोनावायरस अर्थात कोविड-19 की बात कर रहे हैं. जैसा कि आप सभी जानते हैं कि कोरोनावायरस का कहर अपनी गति से दोबारा से वैश्विक स्तर पर तहलका मचा रहा है. जिसका प्रभाव भारत में भी देखने को मिल रहा है। तो आज का हमारा यह विषय इसी चर्चा पर आधारित होगा। अगर आप इससे संबंधित जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो हमारे साथ अंत तक बने रहें और आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

कोरोनावायरस – 

जैसे कि अगर हम इसके अर्थ को समझने का प्रयास करें तो corona एक लेटिन भाषा का शब्द है. जिसका अर्थ होता है मुकुट और इस वायरस के क्षणों के इर्द-गिर्द उभरे हुए कांटे जैसे ढांचों से इलेक्ट्रॉन सूक्ष्मदर्शी में मुकुट जैसा आकार दिखाई पड़ता है. जिसके आधार पर इसका नामकरण किया गया है। आप जानते होंगे कि सूर्य ग्रहण के समय चंद्रमा सूर्य को जिस प्रकार ढक लेता है तथा चन्द्रमा के चारों ओर किरणें निकलती हुई प्रतीत होती हैं उसको भी कोरोना कहा जाता है।

यह विषाणु प्राणियों से आया है जैसा कि अधिकतर लोग जो चीन शहर के केंद्र में स्थित हुआनन सीफूड होलसेल मार्केट में खरीदारी के लिए आते हैं तथा फिर काम करने वाले लोग जो जीवित या नव वध के प्राणियों को बेचते हैं यह विषाणु वायरस वहीं से संक्रमित हुआ है. अर्थात् चीन से आरंभ हुआ है इसलिए इसे वुहान कोरोनावायरस के नाम से भी जाना जाता है परंतु w.h.o. ने वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने इसका नाम सार्स-कोव 2 को रखा है।

पिछले 7 दिनों में चीन में कोरोना का कहर 

पिछले 7 दिनों में चीन में लगभग 1.5 लाख संक्रमित मामले सामने आए। अगर भारत की बात करें तो भारत में 24 घंटों में 185 नए मरीज सामने आए हैं. जिसके बाद से यह सक्रिय मामलों का आंकड़ा 3402 तक पहुंच चुका है। जैसा कि आपने देखा होगा चीन सहित दुनिया के विभिन्न राष्ट्रों में कोरोना महामारी एक बार फिर तेजी से अपने पैर फैला रही है. वही यह भी देखने में आ रहा है कि चीन में लॉकडाउन हटाने के बाद हालात बेकाबू से हो गई. जिसमें में विशेषज्ञों का मानना है कि अगले 3 महीनों में चीन में 60 फ़ीसदी से ज्यादा आबादी संक्रमित हो सकती है।

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशंस के अनुसार चीन में अब तक एक करोड़ से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. वही 31378 लोगों की मौत इस महामारी की वजह से हो चुकी है। विश्व स्तर की बात करें तो पिछले सात दिनों में 35 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं। 10076 लोगों की मौत भी हो चुकी है। विशेष तौर पर सिर्फ चीन की बात करें तो 149666 मामले सामने आए. जबकि उसमें 447 लोगों की जान इस महामारी के कारण हो चुकी है। इसके साथ-साथ जापान में भी इस का कहर जारी है. इसी अवधि के दौरान 8 पॉइंट 7 4 लाख लोग इससे संक्रमित हैं जबकि 1443 लोगों की जान जा चुकी है।

Ayushman Bharat Yojana List 2022: Download Jan Arogya List Pdf

ABHA Card: इलाज से लेकर मेडिकल रिपॉर्ट तक का फायदा | ABHA Card download

India vs coronavirus updates

भारत में coronavirus के मामलों में गिरावट देखने में आई हैं, पिछले 24 घंटों में नए मामलों में काफी कमी पाई गई तथा दूसरी तरफ सक्रिय मामलों में भी गिरावट देखने को मिली है। आंकड़ा 3402 पर पहुंच गया है विशेष तौर पर केरल की बात करें तो 1429 मामले सक्रिय जबकि कर्नाटक में सक्रिय मामलों की संख्या 1263 तक देखी गई है।

22 दिसंबर 2022 कि सुबह 8:00 बजे केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में देश में 185 नए मामले सामने आए इससे पहले 21 दिसंबर 131 मामले सामने आए थे जबकि 20 दिसंबर को 112 मामले सामने आए थे और जबकि 1 नवंबर को 1046 नए मामले सामने का आंकड़ा देखा गया था। आंकड़ों पर विचार विमर्श करें तो आप सक्रिय मामलों की दर जीरो पॉइंट 0% प्रतीत होती है जबकि रिकवरी की दर इससे काफी अधिक है जो कि 98.8 है।

कोरोना की महामारी से हुई मौतों की संख्या पिछले 24 घंटों में 1 मापी गई जबकि भारत सरकार ने पिछले दिनों में हुई रिकवरी के आंकड़ों को भी साझा किया है जिसमें उन्होंने बताया ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 210 है। हमारी का कहर सबसे ज्यादा अधिक केरल में पाया गया उसके बाद कर्नाटक में तथा उसके बाद महाराष्ट्र में 135 और उड़ीसा में 103 और उत्तर प्रदेश में 98 मामले अभी भी सक्रिय है।

NIT Meghalaya Home PageClick Here

Leave a comment