CIBIL Score है खराब तो बिगड़ सकता है हिसाब, Bad Debt के कारण होने वाले नुकसान को रोकने के तरीके

CIBIL ScoreCIBIL Score, जिसे अक्सर Credit Score कहा जाता है, एक व्यक्ति की credit report के आधार पर एक संख्यात्मक प्रतिनिधित्व होता है। तीन अंकों का नंबर किसी व्यक्ति की credit history के बारे में बताता है. यह 300 से 900 अंकों के बीच है।

Credit report में credit history शामिल होता है और यह वह आधार है जिस पर स्कोर निर्धारित होता है। यह किसी व्यक्ति की साख के प्रतिनिधित्व के रूप में कार्य करता है और यह ज्यादातर क्रेडिट रिपोर्ट के डेटा पर आधारित होता है, जो अक्सर CIBIL जैसे क्रेडिट ब्यूरो से प्राप्त होता है।

cibil score kaise thik karen

CIBIL Score

बैंक और क्रेडिट कार्ड या ऋण देने वाले संगठन उपभोक्ताओं को ऋण देने के संभावित जोखिम का आकलन करने और खराब ऋण के कारण होने वाले नुकसान को रोकने के लिए तरीके स्थापित करने के लिए अंक प्रदान करते हैं। एक CIBIL Score, 300 से 900 के बीच होता है, जिसमें 300 खराब स्कोर और 900 सबसे अच्छा स्कोर दर्शाता है।

अब बुढ़ापे की No Tension, मिलेगी हर महीने 18500 पेंशन- 31 मार्च तक करें आवेदन

खुशी से झूमेंगे केंद्रीय कर्मचारी ! 8th Pay Commission में सैलरी हाइक [44%]

ऋण

लोन की ब्याज़ दरों पर बेहतरीन ऑफ़र पाने के लिए आपका CIBIL score बढ़िया होना चाहिए। अधिकांश ऋणदाता, जिनमें बैंक और गैर-बैंकिंग क्रेडिट संगठन शामिल हैं, 750 और उससे अधिक के CIBIL score पर ऋण देते हैं। यदि आपका CIBIL score 750 से कम है या खराब स्थिति में है, तो Loan देने वाले संगठन आपके ऋण आवेदन को अस्वीकार कर सकते हैं। ऐसे में हम यहां आपके CIBIL score को बेहतर बनाने के कुछ टिप्स दे रहे हैं…

विलंबित भुगतान से बचें

अगर आपने कर्ज लिया है या credit card लिया है तो समय पर उसका भुगतान करें। यदि आप समय सीमा के बाद उन्हें भुगतान करते हैं, तो यह आपके CIBIL score को प्रभावित करेगा और यह खराब होगा। वहीं दूसरी ओर, अगर आप समय पर भुगतान करते हैं तो आपका CIBIL score बेहतर होगा।

7th Pay Commission : सरकार का बड़ा फैसला- 8 क‍िस्‍तों में म‍िलेगा 18 महीने का DA Arrear

Retirement Age Hike News 2023: खुशखबरी! रिटायरमेंट में 2 वर्ष की वृद्धि

क्रेडिट कार्ड की लिमिट (credit card limit)

जब तक संभव हो अपने क्रेडिट कार्ड की पूरी सीमा का उपयोग न करें। इसका असर आपके सिबिल पर पड़ता है। अपनी क्रेडिट सीमा ( credit limit) से अधिक होने से बचने की कोशिश करें क्योंकि यह आपके क्रेडिट उपयोग अनुपात को बढ़ाता है और आपके CIBIL score को कम करता है।

NIT Meghalaya

Leave a comment