CBSE New System: अगले शैक्षणिक वर्ष से नई प्रणाली अपनाने के लिए सीबीएसई करेगा ये बड़ा बदलाव

CBSE New System: नई शिक्षा नीति (NEP) 2020 की सिफारिशों के अनुरूप केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) 5+3+3+4 शैक्षणिक ढांचे की ओर बदलाव की तैयारी कर रहा है। जानकारी के मुताबिक CBSE बोर्ड जल्द ही भारत में सभी सीबीएसई बोर्ड से संबद्ध स्कूलों को वर्तमान 10+2 प्रणाली से प्रस्तावित 5+3+3+4 प्रणाली में ट्रांसफर करने के लिए एक आदेश जारी करेगा।

CBSE New System

CBSE New System अब आएगा नया बदलाव

सीबीएसई के चेयरपर्सन निधि छिब्बर के मुताबिक अगर CBSE बोर्ड (CBSE Board) आगामी शैक्षणिक सत्र से यह बदलाव करेगा। उन्होंने कहा कि बोर्ड जल्द ही सभी स्कूलों के लिए 10+2 के बजाय 5+3+3+4 शिक्षा की नई प्रणाली को अपनाने के लिए निर्देश जारी करेगा। स्कूली शिक्षा के कई चरणों में इन संसाधनों के विकास को ट्रैक करने के लिए एक स्कूल रजिस्ट्री, शिक्षक रजिस्ट्री और छात्र रजिस्ट्री को कर सकते हैं।

CBSE New System छात्र औपचारिक शिक्षा में होंगे शामिल

आपको बता दें कि CBSE प्रमुख ने कहा है कि औपचारिक शिक्षा में 3 से 6 साल के बच्चों को शामिल करना एनईपी (NEP) की एक प्रमुख विशेषता है। उन्होंने आगे बताया कि प्री-नर्सरी और प्रिपरेटरी स्कूलों के माध्यम से कई सीबीएसई स्कूल पहले से ही छोटे बच्चों की शिक्षा में हैं। बोर्ड के प्रयास से इसे औपचारिक सीबीएसई प्रणाली ढांचे के तहत लाया जाएगा।

NEP 2020 में शिक्षा को चार चरणों में किया जाएगा जारी

एनईपी 2020 (NEP 2020) के तहत नई शैक्षणिक संरचना बच्चों की शिक्षा को चार चरणों में विभाजित करती है। पहला पांच साल तक चलने वाला मूलभूत चरण है। अगले दो चरण, प्रारंभिक और मध्य, तीन-तीन वर्ष के होंगे। माध्यमिक चरण चार साल लंबा होगा। नए डिवीजनों में दावा किया जाता है कि बच्चे और किशोर किस तरह के संज्ञानात्मक विकास चरणों से गुजरते हैं।

छात्रों को एक स्कूल में दो बार दिया जाएगा पढ़ने का मौका

एनईपी के तहत जहां 10वीं से 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं जारी रहेंगी वहीं कोचिंग कक्षाओं की जरूरत को दूर करने के लिए परीक्षाओं की इस व्यवस्था में बदलाव किया जाएगा। एनईपी (NEP) में कहा गया है कि बोर्ड परीक्षाओं के उच्च दांव पहलू को दूर करने के लिए सभी छात्रों को एक स्कूल के दौरान दो बार इन परीक्षाओं में बैठने की अनुमति दी जाएगी। इस परीक्षा में मुख्य परीक्षा अनिवार्य होगी जबकि सुधार परीक्षा वैकल्पिक होगी।

CBSE Board Exams Date Sheet 2023 : CBSE बोर्ड नवंबर के इस तारीख को जारी करेगा फाइनल डेट शीट

CBSE Class 12 Date Sheet 2023: 15 Feb से शुरू होगी परीक्षा, Download करें डेटशीट?

क्या है NEP का एजुकेशन फॉर्मेट?

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी (NEP) स्कूलिंग को 4 स्टेट में बांट दिया गया है। सबसे पहले छात्रों को फाउंडेशन स्टेज में जाना होगा जिसमें 3 साल से लेकर 8 साल के बच्चों को शिक्षा दी जाएगी। दूसरी स्टेज में छात्रों को तीसरी से पांचवी क्लास तक पढ़ाई होगी। इसमें 8 से 11 साल के बच्चे शामिल होंगे। इसके बाद तीसरी स्टेज में छात्रों को छठी से आठवीं तक तक के छात्रों को पढ़ने का मौका मिलेगा जिसमें 11 से 14 साल के बच्चों को शिक्षा का लाभ मिलेगा। चौथी स्टेज में सेकेंडरी एजुकेशन होगी इसमें 9 से 12 क्लास तक के बच्चों को पढ़ाया जाएगा इसमें उम्मीदवारों की आयु 14 से 18 साल के बीच होनी चाहिए।

NIT Meghalaya

Leave a comment